द पॉवर ऑफ हॅबिट: Why We Do What We Do, and How to Change

350.00 178.00

द पावर ऑफ हॅबिट के जरिए न्यूयॉर्क टाइम्स के पुरस्कार विजेता बिजनेस रिपोर्टर चार्ल्स डुहिग हमें आदतों के वैज्ञानिक अध्ययन की एक ऐसी दुनिया में ले जाते हैं, जो न सिर्फ रोमांचकारी है बल्कि बेहद आश्चर्यजनक भी है। वे यह पता लगाते हैं कि कुछ लोगों और कंपनियों को सालों की कोशिशों के बाद भी बदलाव के लिए संघर्ष क्यों करना पड़ता है, जबकि अन्य लोग बड़ी आसानी से रातोंरात बदलाव लाने में सफल हो जाते हैं। चार्ल्स उन प्रयोगशालाओं में भी जाते हैं, जहाँ न्यूरोसाइंटिस्ट इस बात का पता लगाते हैं कि आदतें कैसे काम करती हैं और उनका जन्म हमारे मस्तिष्क के किस हिस्से में होता है। चार्ल्स हमारे सामने यह राज़ भी उजागर करते हैं कि ओलंपिक तैराक माइकल फेल्प्स, स्टारबक्स के सीईओ हॉवर्ड शुल्ज और नागरिक अधिकारों के प्रणेता मार्टिन लूथर किंग जूनियर जैसी शख्सियतों की सफलता में उनकी आदतों की कितनी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इससे एक सम्मोहक, तार्किक परिणाम सामने आता है : नियमित व्यायाम करना, वजन घटाना, अपने बच्चों को सर्वश्रेष्ठ परवरिश देना, अधिक उत्पादक बनना और यहाँ तक कि क्रांतिकारी सफलता हासिल करनेवाली कंपनियाँ खड़ी करना, हमारी इस समझ पर निर्भर करता है कि आदतें कैसे काम करती हैं। इस नए विज्ञान में निपुण बनकर हम अपने व्यापार, अपने समुदाय और अपने जीवन को रूपांतरित कर सकते हैं।

Click here to watch the video summary

Buy Now

Author:Charles Duhigg

चार्ल्स डुहिग – ‘पुलित्ज़र’ पुरस्कार विजेता चार्ल्स डुहिग एक अमेरिकी पत्रकार और नॉन-फिक्शन लेखक हैं। वे द न्यूयॉर्क टाइम्स में रिपोर्टर के तौर पर काम कर चुके हैं और आदतों व उत्पादकता जैसे विषयों पर दो किताबें भी लिख चुके हैं। वे किताबें हैं – ‘द पावर ऑफ हॅबिट : व्हाई वी डू व्हाट वी डू इन लाइफ एंड बिजनेस’ और ‘स्मार्टर फास्टर बेटर’।

Watch the video summary – The Power of Habit

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “द पॉवर ऑफ हॅबिट: Why We Do What We Do, and How to Change”

Your email address will not be published. Required fields are marked *